Class 11 Chemistry Notes in Hindi Chapter 7

अध्याय 7: साम्यावस्था

कक्षा 11 के रसायन विज्ञान के नोट्स अध्याय 7 में निम्न टॉपिक्स दिए गये है :

रासायनिक अभिक्रियाएं, अनुत्क्रमणीय अभिक्रियाएं, उत्क्रमणीय अभिक्रियाएं, साम्य की प्रकृति, साम्य अवस्था के सामान्य अभिलक्षण, भौतिक प्रक्रमों में साम्य, ठोस-द्रव साम्यावस्था, द्रव-वाष्प साम्यावस्था, ठोस-वाष्प साम्यावस्था, रासायनिक प्रक्रमो में साम्य , द्रव्य अनुपाती क्रिया का नियम, सक्रिय द्रव्यमान, गैसीय निकाय में साम्य, साम्य स्थिरांक को प्रभावित करने वाले कारक, ताप, अभिक्रिया की रससमीकरणमिति ( स्टॉइकियोमिति )अभिक्रिया की प्रकृति, साम्यावस्था स्थिरांक के अनुप्रयोग, अभिक्रिया की सीमा का अनुमान लगाना, अभिक्रिया की दिशा का बोध, स्थिरांक KP एवं Kc में सम्बन्ध, Kp और Kc की इकाईयाँ, ला-शातैलिए का नियम, सान्द्रता का प्रभाव, ताप का प्रभाव, उष्माशोषी अभिक्रिया, ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया, दाब का प्रभाव, अक्रिय गैस के योग का प्रभाव, उत्प्रेरक का प्रभाव, भौतिक साम्य पर ला-शातैलिए के नियम का अनुप्रयोग, विलेयता पर ताप का प्रभाव, विलेयता पर दाब का प्रभाव, द्रव के हिमांक और ठोस गलनांक पर दाब का प्रभाव, विलयन में आयनिक साम्य, वियोजन के आधार पर रासायनिक पदार्थ के प्रकार, विद्युत अपघटन (Electrolytes),विद्युत अन-अपघट्य (Non-Electrolytes), आरेनियस का विद्युत अपघटन का सिद्धांत, वियोजन की मात्रा, वियोजन की मात्रा को प्रभावित करने वाले कारक, सान्द्रता/तनुता का प्रभाव, तापक्रम, विद्युत अपघटन की प्रकृति, विलायक की प्रकृति, विलयन में अन्य आयनों की उपस्थिति, अम्ल क्षार धारणायें, अम्ल तथा क्षार की आरेनियस अवधारणा, आरेनियस संकल्पना की सीमाएँ, ब्रोंस्टेड-लॉरी अवधारणा, संयुग्मी अम्ल क्षार, ब्रोन्सटेड-लौरी परिकल्पना की उपयोगिता, सीमाएँ, लुईस अम्ल-क्षार अवधारणा , लुईस सिद्धान्त के लाभ, लुईस सिद्धान्त की कमियाँ, अम्लों का आयनन स्थिरांक , द्विक्षारीय अम्लो के लिए, त्रिक्षारीय अम्ल के लिए, समआयन प्रभाव (Common Ion Effect), जल का आयनिक गुणनफल, pH मापक्रम, बफर विलयन/ उभय प्रतिरोधी विलयन, बफर विलयन तीन प्रकार के होते हैं, अम्लीय बफर विलयन, क्षारीय बफर विलयन, सामान्य बफर विलयन, अम्ल -क्षार अनुमापन, सूचकों का सिद्धांत, सूचकों का चुनाव, विलेयता (s) एवं विलेयता गुणनफल (Ksp), विलेयता गुणनफल के अनुप्रयोग, नमक का शुद्धिकरण, साबुन का साल्टीकरण, विलेयता (s) व विलेयता गुणनफल (KSP) में सम्बन्ध, एक-एक संयोजी विद्युत अपघट्य पदार्थ, द्वि-द्विसंयोजी विद्युत अपघट्य पदार्थ, त्रि-त्रिसंयोजी विद्युत अपघट्य पदार्थ, एक-द्विसंयोजी विद्युत अपघट्य पदार्थ |

कक्षा 11 के रसायन विज्ञान के नोट्स अध्याय 7 -Demo Pages

class 11 chemistry notes in hindi class 11 chemistry notes in hindi Previous  Next  

hhhhhhhh
WordPress Lightbox
Open chat