Class 12 Chemistry Notes in hindi medium

CBSE Class 12 Chemistry Notes Hindi Medium pdf

Class 12 Chemistry Notes in Hindi Medium all chapters with coloued diagrams and easy language are prepared by dedicated team of ToppersCBSE.com. CBSE class  12 Chemistry notes in Hindi medium are prepared for students of Hindi medium of the various state of India. Chemistry Notes for class 12 will help the students to learn and revise whole syllabus in very limited time. Students need no to get panic about extra costly coaching. We have written notes in very easy steps and each topic is well correlated with previous knowledge of the concepts. Chemistry Notes for class 12 in hindi are best notes available on the internet. Our Hindi medium notes for class 12 Chemistry are prepared as per NCERT syllabus guidelines.  While preparing Chemistry notes we have taken special care for easy language and easy derivations so that even a weaker student can understand our notes in just first reading. 

Class 12 Chemistry Notes in Hindi Medium All Chapters (कक्षा 12 वीं रसायन विज्ञान के नोट्स) हमारे वेबसाइट पर उपलब्ध हैं | यह नोट्स बड़ी ही मेहनत के द्वारा हमारे मेहनती अध्यापकों के द्वारा तैयार किए गए हैं | विभिन्न अध्यापकों द्वारा उनके लंबे अनुभव से तैयार किए गए रसायन विज्ञान कक्षा बारहवीं के नोट्स हमारे विद्यार्थियों के लिए बहुत ही उपयोगी सिद्ध होंगे| कक्षा 12वीं रसायन विज्ञान के नोट्स हिंदी माध्यम में बड़ी ही आसान भाषा में तथा अधिकतम रंगीन चित्रों के द्वारा समझाएं गए हैं|

Class 12 Chemistry Notes in Hindi Medium Key features :

  • Class 12 Chemistry Notes in Hindi Medium All Chapters are explained in step wise manner.
  • Complex topics are explain with maximum colored diagrams so that students can understand topics very easily.
  • Class 12 Chemistry Notes in Hindi Medium All Chapters are best notes.
  •  कक्षा 12वीं रसायन विज्ञान के नोट्स हिंदी माध्यम बड़ी ही आसान भाषा में तैयार किए गए |
  •  रसायन विज्ञान के नोट्स एनसीआरटी की पूर्ण  पाठ्यक्रम  के अनुसार दिए गए हैं|
  •  नोट पढ़ने के बाद बड़ी-बड़ी किताबों को पढ़ने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी |

Class 12 Chemistry Notes Hindi Medium Chapter-wise

Class 12 Chemistry Notes Hindi Medium-Demo Pages

Class 12 Chemistry Notes Hindi Medium Buy Now

Students need to register to download notes. Registered user not only able to buy and download notes of class 12 Chemistry hindi medium but all subjects notes can be download in just single click after purchase. Online quizzes are also accessible to registered users only. Click here for registration

Buy Chemistry Notes in Hindi Medium BIG DISCOUNT Click Here

कक्षा 12 रसायन विज्ञान नोट्स हिंदी माध्यम : नोट्स में दिए गये टॉपिक्स 

अध्याय 1: ठोस अवस्था 

ठोस, ठोसों के प्रकार, क्रिस्टलीय ठोस के गुण, अक्रिस्टलीय ठोस के गुण, क्रिस्टलीय तथा अक्रिस्टलीय ठोसों में अंतर, क्रिस्टलीय ठोसों का वर्गीकरण, आण्विक ठोस, अध्रुवी आण्विक ठोस, ध्रुवीय आण्विक ठोस, हाइड्रोजन आबंधित आण्विक ठोस, आयनिक ठोस, धात्विक ठोस, सहसंयोजक अथवा नेटवर्क ठोस, क्रिस्टल जालक, क्रिस्टल जालक के लक्षण, इकाई कोष्टिका (Unit cell) , इकाई सेल के पैरामीटर,  एकक कोष्ठिका के प्रकार, आद्य एकक कोष्ठिका, केंद्रित एकक कोष्ठिका, अन्तः (काय) केन्द्रित एकक कोष्ठिका, फलक केंद्रित एकक कोष्ठिका, अन्तः केंद्रित एकक कोष्ठिका,  क्रिस्टल तंत्र, निबिड़ संकुलन, चतुष्फल्कीय रिक्तियों को ढकते हुए, अष्टफल्कीय रिक्तियों को ढकते हुए, अंतरकाशीय छिद्र या अंतरकाशीय रिक्तियां , चतुष्फल्कीय रिक्तियां तथा अष्टफल्कीय रिक्तियां, निबिड संकुलन की गणना , आद्य एकक कोष्ठिका की संकुलन दक्षता, FCC या CCP की संकुलन दक्षता, BCC की संकुलन दक्षता, ठोस में अपूर्णताऐं या दोष, बिंदु दोष, बिंदु दोष के प्रकार, स्ट्राइकियोमिट्री दोष , रिक्तिका दोष, अन्तराकाशीय दोष, शॉटकी दोष, फ्रैंकल दोष, नॉन स्ट्राइकियोमिट्री दोष, धातु आधिक्य दोष, ऋणायन के अभाव से, अतिरिक्त धनायन के कारण, धातु न्यूनता दोष, अशुद्धता दोष , बैंड सिद्धांत, ऊर्जा बैंड के आधार पर पदार्थों का वर्गीकरण, अर्धचालक में विद्युत चालकता, नैज अथवा शुद्ध अर्धचालक, अशुद्ध अथवा अपद्रवी अर्धचालक, n-प्रकार के अर्धचालक, p-प्रकार के अर्धचालक, ठोसों में चुंबकीय गुण, अनुचुम्बकत्व (Paramagnetism), प्रति चुंबकत्व (diamagnetism), लौह चुंबकत्व

अध्याय 2: विलयन

विलयन, समांगी तथा असमांगी मिश्रण , समांगी मिश्रण, असमांगी मिश्रण, विलयनों के प्रकार , सांन्द्रता, विलयन की सान्द्रता को पाँच तरह से परिभाषित, द्रव्यमान प्रतिशत (w/w), आयतन प्रतिशत (V/V), द्रव्यमान आयतन प्रतिशत (w/V), मोललता, मोल अंश या मोल प्रभाज या मोल भिन्न, पीपीएम (PPM-parts per million), ठोस की द्रव में विलेयता,1. विलेय तथा विलायक की प्रकृति, 2. तापमान, 3. दाब, हेनरी का नियम , हेनरी के नियम के अनुप्रयोग, राउल्ट का नियम, आदर्श विलयन और अनादर्श विलयन, अनादर्श विलयन, अनादर्श विलयन के प्रकार, आदर्श विलयन और अनादर्श विलयन में अंतर, अणु संख्य गुण, वाष्पदाब का आपेक्षिक अवनमन, क्वथनांक , क्वथनांक का उन्नयन, हिमांक में अवनमन, परासरण, परासरण की क्रिया के प्रकार,अर्द्ध पारगम्य झिल्ली, परासरण और विसरण में अन्तर, परासरण को प्रभावित करने वाले कारक , विलेय के अणुओं के अणुभार ज्ञात करना , असामान्य मोलर द्रव्यमान , असमान्य मोलर द्रव्यमान में संशोधन , वांट हॉफ गुणांक के उपयोग
वांट हॉफ गुणांक i , आयनन की मात्रा की गणना करना , संयोजन की मात्रा की गणना करना

अध्याय 3: वैधुतरसायन

भूमिका,  धात्विक और वैद्युत अपघटनी चालक , धात्विक चालक और वैद्युत अपघटनीय चालक में अंतर, विद्युत अपघट्यो का वर्गीकरण, प्रबल विद्युत अपघट्य (Strong Electrolyte), दुर्बल विद्युत अपघट्य (Weak Electrolyte), विद्युत अपघट्यों की चालकता का प्रभावित करने वाले कारक, विद्युत अपघटन की क्रिया विधि, कार्यविधि, वैद्युत अपघटन के नियम, फैराडे का विद्युत अपघटन का प्रथम नियम, फैराडे का विद्युत अपघटन का द्वितीय नियम, विद्युत अपघटनी चालको में चालकता तथा चालकत्व, चालकता, सैल स्थिरांक, आयनिक विलयनो की चालकता का मापन , तुल्यांकी चालकता तथा मोलर चालकता , तुल्यांकी चालकता, मोलर चालकता, चालकता (विशिष्ट चालकत्व) पर तनुता का प्रभाव , कोलराऊश नियम , कोलराऊश नियम के अनुप्रयोग, गल्वेनी या वोल्टीय सेल , गेल्वनी सेलों को व्यक्त करना, ऑक्सीकरण विभव (Oxidation Potential), अपचयन इलेक्ट्रोड विभय (Reduction Electrode Potential), मानक इलेक्ट्रोड विभव (Standard Electrode Potenital), विद्युत वाहक बल तथा विभवान्तर , विद्युत वाहक बल, विभवान्तर, सेल विभव और विभवान्तर में अंतर, इलेक्ट्रोड विभव का मापन , मानक हाइड्रोजन इलेक्ट्रोड (SHE), इलेक्ट्रोड विभव का मापन, विद्युत रासायनिक श्रेणी,  विद्युत् वाहक बल और गिब्ज ऊर्जा , नेर्न्स्ट समीकरण (Nernst’s Equation), बैटरी, प्राथमिक बैटरी या सेल, शुष्क सेल (Dry Cell), मर्करी सेल,  द्वितीयक सेल (Secondary Cell) , लैड – अम्ल स्टोरेज या सीसा संचायक बैटरी, निकल – कैडमियम बैटरी, ईंधन सैल , धातु संक्षारण, रासायनिक या शुष्क संक्षारण, विद्युत रासायनिक या नम संक्षारण , लोहे के जंग लगना, जंग लगने में प्रयुक्त अभिक्रियाएँ ,संक्षारण से बचाव

अध्याय 4: रासायनिक बलगतिकी

 रासायनिक बलगतिकी , वेग के आधार पर रासायनिक अभिक्रियाओ के प्रकार , तात्कालिक या आयनिक अभिक्रियाएँ, अति मन्द अभिक्रियाएँ, मन्द अभिक्रियाएँ, रासायनिक अभिक्रिया का वेग , औसत वेग, तात्क्षणिक वेग, अभिक्रिया वेग और स्टाइकियोमितीय सम्बन्ध, अभिक्रिया वेग और वेग स्थिरांक , अभिक्रिया वेग को प्रभावित करने वाले कारक, अभिक्रिया की कोटि , विभिन्न कोटि की अभिक्रियाओं के लिए वेग स्थिरांक, अभिक्रिया की अणु संख्यता (आणुविकता), अभिक्रिया की कोटि और आण्विकता में अंतर, शून्य कोटि की अभिक्रियाएँ , अर्द्धआयु काल (Half Life Time),  प्रथम कोटि अभिक्रिया, अर्द्धआयु काल पर, अंतराल सूत्र (Interval Formula), प्रथम कोटि अभिक्रिया के उदाहरण, छदम प्रथम कोटि की अभिक्रिया, रासायनिक अभिक्रियाओं का संघट्ट सिद्धांत , संघट्ट आवृत्ति (Collision Frequency), ऊर्जा अवरोध (सक्रियण ऊर्जा अथवा देहली ऊर्जा), अभिविन्यास अवरोध (उचित विन्यास), अभिक्रिया वेग की ताप पर निर्भरता, संघट्ट आवृत्ति पर ताप का प्रभाव , प्रभावी संघट्टो की संख्या में वृद्धि पर ताप का प्रभाव , ताप परिवर्तन से अभिक्रिया वेग में परिवर्तन की व्याख्या, आरहीनियस सिद्धांत एवं सक्रियण ऊर्जा की गणना

अध्याय 5: पृष्ठ रसायन

पृष्ठ रसायन, अधिशोषण, अधिशोष्य (Adsorbate), अधिशोषक (Adsorbent), विभिन्न क्रियाविधियों में अधिशोषण, विशोषण (Desorption), अवशोषण, अधिशोषण और अवशोषण में अंतर, शोषण, अधिशोषित में ऊष्मागतिकी, अधिशोषण के प्रकार, ठोस अधिशोषको पर गैसों का अधिशोषण को प्रभावित करने वाले कारक , अधिशोषण समतापी , अधिशोषण के अनुप्रयोग, उत्प्रेरक, उत्प्रेरकों के प्रकार (Types of Catalyst), उत्प्रेरण के प्रकार(अवस्था के अनुसार), समांगी उत्प्रेरण की क्रिया विधि (माध्यमिक यौगिक सिद्धान्त), विषमांगी उत्प्रेरण का अधिशोषण सिद्धांत, एन्जाइम उत्प्रेरण , एन्जाइम उत्प्रेरण के अभिलक्षण, एंजाइम उत्प्रेरण की क्रिया विधि,  जिओलाइट उत्प्रेरक का आकार (वरणात्मक उत्प्रेरण) , विलयन तथा इसके प्रकार, वास्तविक विलयन,कोलाइड विलयन तथा निलम्बन में अंतर, कोलॉइड की प्रावस्थाएँ, प्रावस्थाओं के मध्य आकर्षण या बंधुता के आधार पर कोलॉइड का वर्गीकरण, कोलाइडी बनाने की विधियाँ, कोलाइडी विलयनो का शुद्धिकरण (Purification of Colloids), अपोहन (Dialysis), विद्युत अपोहन (Electrolysis), अतिसूक्ष्म फिल्टरन (अति सूक्ष्म निस्पंदन) (Ultra filtration), एलुमिनियम दवारा अपचयन, स्वतः अपचयन (वायु में गर्म करने से अपचयन), वैद्युत अपघटनी अपचयन

अध्याय 6: तत्वों के निष्कर्षण के सिद्धांत एवं प्रक्रम

भूमिका , धातुएँ, अधातुएं, उपधातुएँ, धातुओं की उपलब्धता , मुक्त अवस्था में (In free state), संयुक्त अवस्था में, धातु निष्कर्षण, चूर्णीकरण या संक्षोदन, अयस्क का सान्द्रण, गुरुत्वीय पृथक्करण विधि, चुंबकीय सांद्रण या पृथक्करण विधि, झाग प्लवन विधि, विधि का वर्णन, निक्षालन या, रासायनिक पृथक्करण विधि, बॉक्साइट से एलुमिना का निक्षालन , हॉल की विधि, चांदी के अयस्क का निक्षालन , सोने के निक्षालन, सांद्रित अयस्कों का धातु ऑक्साइड में परिवर्तन , निस्तापन (Calcination), निस्तापन के लाभ(Advantages of calcination), भर्जन , भर्जन के लाभ (Advantages of Roasting), धातु ऑक्साइड को अशुद्ध धातु में अपचयन , कार्बन (कोक) द्वारा अपचयन, ऐलुमिनियम द्वारा अपयन (ऐलुमिनोन थर्माइट प्रक्रम), स्वतः अपचयन ( वायु में गर्म करने पर अपचयन ), वैद्युत अपघटनी अपचयन, एलिंघम आरेख, एलिंघम आरेख की सीमाएँ, एलिंघम आरेख की सहायता से हेमेटाइट के अपचयन की व्याख्या, आयरन का इसके ऑक्साइड अयस्क से निष्कर्षण , प्रक्रमप्रगलन, कॉपर के अयस्क से कॉपर का निष्कर्षण, अयस्क, प्रक्रम, जिंक ऑक्साइड से जिंक का निष्कर्षण, अयस्क, कोक द्वारा अपचयन, ऐलुमिनियम धातु का निष्कर्षण (हॉल-हेराल्ट प्रक्रम), धातु का शोधन , आसवन (Distillation) , द्रवीकरण (द्रव गलन परिष्करण) (Liquation), दण्ड विलोडन (Plong), विद्युत् अपघटनी शोधन, क्षेत्र परिशोधन (मंडल परिष्करण ), वाष्प प्रावस्था परिष्करण (Vapour Phase Refining), मॉण्ड प्रक्रम (Mond’s Process) , जर्कोनियम या टाइटेनियम शोधन के लिए वॉन-आरकेल विधि , वर्ण लेखिकी विधि (Chromatography).

अध्याय 7: p- ब्लॉक के तत्व

वर्ग 15 के तत्व, उपलब्धता, इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, भौतिक गुण , परमाणु एवं आयनिक त्रिज्याएँ , विद्युत ऋणात्मकता, भौतिक गुण, रासायनिक गुण, ऑक्सीकरण अवस्था (Oxidation State), श्रृंखलन (Catenation), अपररूपता (Allotropes), आबंध की प्रकृति, (Nature of Bonding), नाइट्रोजन का अपने परिवार के अन्य सदस्यों असमान्य गुण, हाइड्रोजन के प्रति क्रियाशीलता (Reactivity towards H), हाइड्राइड्स की जल में विलेयता, डाइनाइट्रोजन, प्रयोगशाला में डाइनाइट्रोजन गैस के बनाने की विधि, डाइनाइट्रोजन के भौतिक गुण, डाइनाइट्रोजन के रासायनिक गुण, डाइऑक्सीजन के साथ क्रिया, डाइनाइट्रोजन के उपयोग, अमोनिया (Ammonia), अमोनिया बनाने की विधियाँ (Proparation of Ammonia), अमोनिया के भौतिक गुण, NH3 की संरचना
अमोनिया के उपयोग, नाइट्रोजन के ऑक्साइड , नाइट्रिक अम्ल (HNO3), विरचन (Preparation), नाइट्रिक अम्ल का व्यापारिक निर्माण, अम्ल की सान्द्रता, नाइट्रिक अम्ल के भौतिक गुण, नाइट्रिक अम्ल के रासायनिक गुण, नाइट्रिक अम्ल के उपयोग, नाइट्रिक अम्ल व नाइट्रेट, आयन की सरंचना, नाइट्रेट आयन के लिए रिंग परीक्षण, फास्फोरस , श्वेत फास्फोरस, लाल फॉस्फोरस, श्वेत फास्फोरस व लाल फास्फोरस में अंतर, काला फास्फोरस, फॉस्फीन, फास्फीन की सरचना, फास्फीन के गुण, उपयोग, फास्फोरस ट्राईक्लोराइड, फास्फोरस, ट्राईक्लोराइड बनाने की विधियां, गुण, फास्फोरस पेंटाक्लोराइड, गुण, फॉस्फोरस के ऑक्सो अम्ल, वर्ग 16 के तत्व , गुण,इलेक्ट्रॉनिक, विन्यास, तत्वों का आकार, विद्युत ऋणात्मकता, ऑक्सीकरण अवस्था, ऑक्सीजन का असामान्य व्यवहार, हाइड्रोजन के प्रति क्रियाशीलता ,हाइड्राइडस की संरचनाएं, हाइड्राइड्स के लक्षण, अपचायक प्रकृति, गलनांक एवं क्वथनांक , डाइऑक्सीजनl, डाइऑक्सीजन के निर्माण की औद्योगिक विधि, डाइऑक्सीजन के गुण, रासायनिक गुण, यौगिकों के साथ अभिक्रिया, हाइड्रोकार्बन के साथ, ऑक्साइड, आवर्त सारणी में ऑक्साइड के व्यवहार क्रम, विभित्र प्रकार के ऑक्साइड, ओजोन (Ozone), ओजोन का विरचन,भौतिक गुण, रासायनिक गुण, ओजोन का उपयोग, ओजोन की संरचना, सल्फर के अपररूप, विषमलंबाक्ष सल्फर/ α – सल्फर, एकनताक्ष (Monoclinic) सल्फर (β -सल्फर), सल्फर डाइऑक्साइड (SO2), गुण, SO2 की संरचना, उपयोग, सल्फर के ऑक्सो अम्ल, सल्फ्यूरिक अम्ल, सल्फर डाई ऑक्साइड का निर्माण, सल्फ्यूरिक अम्ल के भौतिक गुण, सल्फ्यूरिक अम्ल के रासायनिक गुण, सल्फ्यूरिक अम्ल के उपयोग, सल्फ्यूरिक अम्ल की संरचना, वर्ग 17 के तत्व, इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, उपलब्धता, इलेक्ट्रॉन लब्धि एन्थैल्पी, विद्युत्ऋणात्म्कता, गुण, हाइड्रोजन के प्रति अभिक्रियाशीलता, हाइड्रोजन हेलाईड्स के लक्षण, ऑक्सीजन के प्रति, अभिक्रियाशीलता(ऑक्साइडों का निर्माण) , क्लोरीन (Chlorine), विरचन (Preparation), व्यावसायिक विरचन (Commercial Preparation), गुण, हाइड्रोजन क्लोराइड , विरचन (Preparation), गुण (Properties), अपचायक प्रकृति (Reducing Nature), उपयोग, हेलोजनो के ऑक्सो अम्ल, ऑक्सो अम्लों की सापेक्षिक अम्लीय प्रबलता, अन्तरा हैलोजन यौगिक, अन्तरा हैलोजन यौगिकों का नामकरण, अन्तरा हैलोजन यौगिकों की आकृतियाँ, अन्तराहेलोजन योगिको को बनाने को विधियाँ, अन्तर हैलोजन यौगिकों के गुण, वर्ग 18 के तत्व , उपलब्धता, आयनन एन्थैल्पी, परमाणु त्रिज्या , भौतिक गुण, रासायनिक गुण, जीनान के सरंचनाए, जीनॉन ऑक्सीजन योगिक

अध्याय 8: d- एवं f- ब्लॉक के तत्व

d-ब्लॉक के तत्व, प्रथम संक्रमण श्रेणी,द्वितीय संक्रमण श्रेणी, तृतीय संक्रमण श्रेणी, चतुर्थ संक्रमण श्रेणी, d ब्लॉक तत्वों के इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, संक्रमण तत्वों के अभिलक्षण गुण, प्रथम संक्रमण श्रेणी के तत्वों के गुणधर्म में सामान्य, आयनिक त्रिज्या, धात्विक प्रकृति, आयनन एन्थैल्पी, ऑक्सीकरण अवस्था, उत्प्रेरकीय गुण, रंगीन आयन्स (Coloured Ions), चुम्बकीय गुण, प्रतिचुम्बकीय गुण (Diamagnetic), अनुचुम्बकीय गुण (Paramagnetic), लौह चुम्बकीय गुण (Ferromagnetism), चुम्बकीय गुणों के अनुप्रयोग, अन्तराकाशी यौगिक, मिश्र धातुओं का बनना
संकुल यौगिक का बनना, f- ब्लॉक तत्व, लेन्थेनॉइड (Lanthanides), लेन्थेनॉइड तत्वों का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, ऑक्सीकरण अवस्था (Oxidation State), रासायनिक अभिक्रियाशीलता, लैन्थेनाइड संकुचन, लैन्थेनाइड संकुचन के परिणाम, लैन्थेनाइड के उपयोग, एक्टिनाइड (Actinide), ऑक्सीकरण अवस्थाएं (Oxidation States), इलेक्ट्रॉनिक विन्यास, आयनिक आकार (Ionic Radii), सामान्य लक्षण (General characteristics), रासायनिक सक्रियता (Chemical reactivity), एक्टिनाइड संकुचन (Actinoid Contraction), एक्टिनॉयड्स के उपयोग (Uses of Actinides), लैन्थेनायड्स एवं एक्टिनॉयड्स की तुलना

Share it
Open chat