Class 11 Chemistry Notes in Hindi Chapter 5

अध्याय 5: द्रव्य के अवस्थाएँ तथा ठोस अवस्था

कक्षा 11 के रसायन विज्ञान के नोट्स अध्याय 5 में निम्न टॉपिक्स दिए गये है :

परिचय, अन्तर-आण्विक अन्योन्य क्रियाएं , द्विध्रुव-द्विध्रुव अन्तर क्रिया, द्विध्रुव-प्रेरित द्विध्रुव अन्तर क्रिया, तात्कालिक प्रेरित द्विध्रुव-प्रेरित द्विध्रुव अन्तर क्रिया, हाइड्रोजन बन्ध, अन्तः अणुक हाइड्रोजन बन्ध, गैसीय अवस्था, गैसों के नियम, बॉयल नियम , बॉयल के नियम का आरेखीय निरूपण, गैस के घनत्व व दाब में सम्बन्ध, चार्ल्स नियम, चार्ल्स के नियम का प्रयोगिक महत्व, गे-लुसैक नियम, गै-लुसोंक नियम का आरेखी निरूपण, आवोगाद्रो परिकल्पना, गैस के मोलों की संख्या की गणना, आदर्श गैस समीकरण, गैस स्थिरांक R की प्रकृति, R का संख्यात्मक मान, R की विभिन्न इकाइयाँ, आदर्श व्यवहार से विचलन , आदर्श गैस व्यवहार से विचलन की वान्डरवाल्स अभिधारणाएँ, आयतन संशोधन (VOLUME CORRECTION ), अपवर्जित आयतन की b गणना , दाब संशोधन (PRESSURE CORRECTION ), डाल्टन का आंशिक दाब नियम, गैस का आंशिक दाब (P), गैसों का विसरण , ग्राहम का विसरण का नियम, गैसों का अणुगति सिद्धान्त, गैसों का अणुगतिक समीकरण, गैसों का द्रवीकरण, एन्ड्रयू का प्रयोग, गैसों के द्रवीकरण की प्रायोगिक विधियाँ, द्रव अवस्था, वाष्प दाब, द्रव का क्वथनांक, वाष्प दाब को प्रभावित करने वाले कारक, पृष्ठ तनाव , पृष्ठ तनाव को प्रभावित करने वाले कारक, श्यानता (VISCOSITY), श्यानता गुणांक या श्यानता की इकाई |

ठोस, ठोसों के प्रकार, क्रिस्टलीय ठोस के गुण, अक्रिस्टलीय ठोस के गुण, क्रिस्टलीय तथा अक्रिस्टलीय ठोसों में अंतर, क्रिस्टलीय ठोसों का वर्गीकरण, आण्विक ठोस, अध्रुवी आण्विक ठोस, ध्रुवीय आण्विक ठोस, हाइड्रोजन आबंधित आण्विक ठोस, आयनिक ठोस, धात्विक ठोस, सहसंयोजक अथवा नेटवर्क ठोस, क्रिस्टल जालक, क्रिस्टल जालक के लक्षण, इकाई कोष्टिका (Unit cell) , इकाई सेल के पैरामीटर,  एकक कोष्ठिका के प्रकार, आद्य एकक कोष्ठिका, केंद्रित एकक कोष्ठिका, अन्तः (काय) केन्द्रित एकक कोष्ठिका, फलक केंद्रित एकक कोष्ठिका, अन्तः केंद्रित एकक कोष्ठिका,  क्रिस्टल तंत्र, निबिड़ संकुलन, चतुष्फल्कीय रिक्तियों को ढकते हुए, अष्टफल्कीय रिक्तियों को ढकते हुए, अंतरकाशीय छिद्र या अंतरकाशीय रिक्तियां , चतुष्फल्कीय रिक्तियां तथा अष्टफल्कीय रिक्तियां, निबिड संकुलन की गणना , आद्य एकक कोष्ठिका की संकुलन दक्षता, FCC या CCP की संकुलन दक्षता, BCC की संकुलन दक्षता, ठोस में अपूर्णताऐं या दोष, बिंदु दोष, बिंदु दोष के प्रकार, स्ट्राइकियोमिट्री दोष , रिक्तिका दोष, अन्तराकाशीय दोष, शॉटकी दोष, फ्रैंकल दोष, नॉन स्ट्राइकियोमिट्री दोष, धातु आधिक्य दोष, ऋणायन के अभाव से, अतिरिक्त धनायन के कारण, धातु न्यूनता दोष, अशुद्धता दोष , बैंड सिद्धांत, ऊर्जा बैंड के आधार पर पदार्थों का वर्गीकरण, अर्धचालक में विद्युत चालकता, नैज अथवा शुद्ध अर्धचालक, अशुद्ध अथवा अपद्रवी अर्धचालक, n-प्रकार के अर्धचालक, p-प्रकार के अर्धचालक, ठोसों में चुंबकीय गुण, अनुचुम्बकत्व (Paramagnetism), प्रति चुंबकत्व (diamagnetism), लौह चुंबकत्व

कक्षा 11 के रसायन विज्ञान के नोट्स अध्याय 5 -Demo Pages

class 11 chemistry notes in hindi class 11 chemistry notes in hindi

 Previous  Next  

hhhhhhhh
Open chat